X Close
X
7499472288

खण्डहर बाउंड्री पर सिचाई विभाग करा रहा है नया प्लास्टर , बना चर्चा का विषय


Lucknow:

        ब्यूरो रिपोर्ट / अंजनी कुमार

रायबरेली -

जनपद को भले ही विकास के नाम पर चमकाने का प्रयास किया जा रहा को पर यह चमक रेशम के चादर में पैबन्द जैसा लग रहा है ।

जैसा कि मुख्यमंत्री के आगमन पर सड़कों को चकाचक बना दी गई । जो चंद दिनों बाद ही गड्ढे में तब्दील हो गयी लोग इस रहस्यमय ढंग से टूट गई सड़कों का कारण आज तक जाने के प्रयास में हैं। वहीं आज इसका खुलासा भी हो गया कि सरकारी भवनों और सड़कों के निर्माण में लोग घपलेबाजी की शिकायत क्यों करते हैं ।

जिले में अतिक्रमण हटाए जाने के नाम पर जब कई सरकारी भवनों की चारदीवारी मुक्त हुई तो उनकी हालत देखकर निर्माण कार्य कराए जाने हेतु बाउंड्री वाल को फिर से बनवाने का जिम्मा विभागों ने लिया। 

जिसके तहत जिला अस्पताल रायबरेली और सिंचाई विभाग की बाउंड्री वाल बनना शुरू भी हो गई । लेकिन दोनों विभागों की बाउंड्री वाल के निर्माण में दो अलग-अलग बाते सामने आई ।

जहां एक ओर जिला अस्पताल की दुरुस्त बाउंड्री वाल को गिराकर उसका पुनर्निर्माण कराया जा रहा है । तो वहीं सिंचाई विभाग में पुरानी हो चुकी चाहर दीवार पर प्लास्टर चढ़ा कर उन्हें नया बनाया जा रहा है ।

पुरानी दीवारों पर नया पोस्टर लगाकर उसे दुरुस्त दिखाने का जो कुचक्र रचा जा रहा है वह लोगों के गले नहीं उतर रहा है । इन बाउंड्री वाल पर प्लास्टर चढ़ाने वाले कर्मी भी हंसते हैं और कहते हैं कि साहब हम क्या कर सकते हैं हम तो मजदूर हैं ।