X Close
X
7499472288

बाईपास की मांग को लेकर कबरई व्यापार मण्डल ने फूंका बिगुल


Lucknow:

कबरई-महोबा:- कानपुर के नौबस्ता से कबरई मुख्य चौराहे तक सम्भावित फोर लेन सड़क को नगर के अंदर से बनाये जाने के विरोध को लेकर नगर के समस्त ब्यापारियों ने गहोई धर्मशाला में बैठक कर आगामी रणनीति तैयार की।

कस्बे के ब्यापारियों के साथ जनपद के ब्यापार मंडल पदाधिकारियों ने भी शिरकत कर यहाँ के ब्यापारियों का हौसला और भी बढा दिया।पत्थर उद्योग नगरी के नाम से विख्यात कस्बा कबरई में कानपुर सागर राष्ट्रीय राजमार्ग को झांसी मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाला 3.700 किलोमीटर लम्बा बाई पास रोड बना हुआ है कानपुर के नौबस्ता से कबरई तक बनने वाले फोर लेन हाईवे को इस बाई पास से जोड़ देने पर यह नगर के अंदर से नही गुजरेगा

जिससे मानक के अनुरूप मध्य रोड से 55 फुट दोनों ओर लिए जाने से नगर के मुख्य बाजार के पूरी तरह नष्ट होने का भी खतरा समाप्त हो जाएगा साथ ही हाईवे पर चलने वाले तेज रफ्तार वाहनों से कस्बे के अंदर होने वाली दुर्घटनाओं को भी रोका जा सकेगा।नगर के ब्यापारियों ने संघर्ष समिति बना कर आर पार की लड़ाई लड़ने का एलान किया।

समाजसेवी व ब्यापारी शिवविशाल त्रिपाठी ने बताया की पुराने मानचित्र के अनुसार कबरई कस्बे के अंदर सड़क की चौडाई मात्र 72 फुट है ।पूर्व एम एलसी जयवंत सिंह ने बताया की यदि कबरई स्थित बाईपास को सीधा कर मानक के अनुरूप बना दिया जाए तो उसकी लंबाई स्वतः घटकर 3.5 किलोमीटर रह जायेगी जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को कम लागत में ही बाई पास प्राप्त हो जाएगा साथ ही कस्बे के ब्यापारियों व नागरिकों को भी किसी प्रकार की क्षति नही होगी।

बाईपास को सीधा करने के लिए आवश्यक भूमि देने के लिए भूमि स्वामी मोहनलाल रैकवार ने अपनी सहमति दी।ब्यापारियों को सम्बोधित करते हुए नगर पंचायत अध्यक्ष मूलचन्द्र कुशवाहा ने नगर पंचायत की तरफ से प्रस्ताव पारित कर हाईवे को बाईपास से जोड़ने की मांग जिलाधिकारी सहित शासन स्तर पर भी भेजने का आश्वासन दिया

ब्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष विनोद पुरवार ,मंत्री राहुल अग्रवाल,पंकज अग्रवाल, सन्तोष गुप्ता ने कबरई के ब्यापारियों को संघर्ष में हर तरह से साथ देने का भरोसा दिलाया।बैठक में उद्योग ब्यापार मंडल के प्रदेश महामंत्री बनवारीलाल गुप्ता,नगर अध्यक्ष सुरेश शिवहरे,कैलाश गुप्ता,उमेश वर्मा,राकेश गुप्ता गोपालदत्त पांडेय,रज्जन शिवहरे,सहित नगर के सभी तीन सौ ब्यापारी मौजूद रहे।