X Close
X
7499472288

बाराबंकी पुलिस ने चर्चित टिकैतनगर हत्याकांड का 48 घंटे के अंदर किया खुलासा


Lucknow:

युवती के परिजनों ने ही की थी हत्या, परिजनों की निशानदेही पर  पुलिस ने आलाकत्ल किया बरामद 

प्रवीण तिवारी

टिकैतनगर-बाराबंकी थाना टिकैतनगर क्षेत्र के ग्राम अनंत पुरवा मजरे डालमऊ में युवती के हत्या के मामले का टिकैतनगर पुलिस ने 48 घंटे में कत्ल का खुलासा करते हुए अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। और अभियुक्तों की निशानदेही पर आला कत्ल बरामद कर लिया।युवती के परिजन ही निकले हत्यारे।

पिता चाचा और भाई  ने की थी युवती की निर्मम हत्या और अपने को बचाने के लिए रची गई थी साजिश।ज्ञात हो थाना टिकैतनगर क्षेत्र के ग्राम अनंत पुरवा मजरे डालमऊ की एक युवती का का शव संदिग्ध परिस्थितियों में माजिद के ईट भट्ठे से तकरीबन दो सौ मीटर दूर पड़ा मिला था। इस बावत युवती के पिता देशराज ने टिकैतनगर थाने में तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी पुत्री को गांव के ही निवासी दीपक सैनी पुत्र सतनाम तथा दीपक सिंह व राजन सिंह पुत्रगण राम सागर सिंह बहका फुसला कर जबरन भगा ले गये हैं और उसकी हत्या कर दी है।और थाना टिकैतनगर में रिपोर्ट दर्ज करवा कर वापस लौटते समय उनकी पुत्री काजल उर्फ कंचन की लाश माजिद के ईट भट्ठे से तकरीबन दो सौ मीटर पहले डामरीकृत सड़क के किनारे पड़ी मिली पुलिस ने दीपक सैनी पुत्र सतनाम तथा दीपक सिंह व राजन सिंह पुत्रगण राम सागर सिंह के विरूद्ध मुकदमा अपराध संख्या 304/19 धारा 363 ,366, 504 तथा 302 का मुकदमा दर्ज कर लिया और जांच पड़ताल शुरू कर दी। चूंकि युवती की हत्या बड़े ही निर्दयता से की गयी थी और उसे उसे बड़े ही क्रूरता से मौत के घाट उतारा गया था। इसलिए काजल उर्फ कंचन की हत्या पूरे जनपद में चर्चा का विषय बन गयी और घटना हाई प्रोफाइल भी बनती जा रही थी। लेकिन पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने प्रकरण को अति गंभीरता से लेते हुए घटना की तेजी से जांच पड़ताल कराने के निर्देश दिए। और पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देशन में अपर पुलिस अधीक्षक (दक्षिणी) तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी रामसनेही घाट के पर्वेक्षण में गहन विवेचना शुरू की गयी और स्वाट व सर्विलांस सेल के सहयोग से घटना के 48 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया गया। पुलिस की विवेचना में काजल उर्फ कंचन की हत्या के आरोपी उसके पिता चाचा और भाई ही निकले। 

 

किस प्रकार घर वालों ने की थी युवती की हत्या

पुलिस विवेचना में जो मामला सामने आया वह इस प्रकार है। मृतका काजल उर्फ कंचन पिता व परिजनों द्वारा प्रताड़ित थी और घर से भागने की फिराक में थी लेकिन भागते समय ग्रामीणों ने देख लिया था और परिजनों को सूचना दी।और उसके पिता देशराज तथा चाचा अरविंद यादव तथा भाई राहुल कुमार व उनके सहयोगी राजेश सिंह ने मृतका को रोका लेकिन उसने अपने परिजनों की बात मानने से इन्कार कर दिया। जिससे उसके पिता चाचा और भाई ने नाराज होकर उसकी निर्ममता से पिटाई शुरू कर दी और हाथ पैर तोड़ कर जान से मार दिया।

 

युवती की हत्या के बाद घर वालों ने गांव के लोगों को फसाने की रची साजिश

 काजल को जान से मारने के बाद उसके परिजनों ने गांव के ही कृष्ण कुमार के साथ उसे दुर्घटना का रूप देने के उद्देश्य से माजिद के भट्ठे के निकट टिकैतनगर भेलसर मार्ग के किनारे छोड़ कर टिकैतनगर थाने आए और दीपक सैनी व दीपक सिंह व राजन सिंह को फंसाने के उद्देश्य से उनके  विरूद्ध मनगढ़ंत रिपोर्ट दर्ज करवा दी ।लेकिन कातिल कानून के लम्बे हाथों से बच नहीं सके।और पुलिस ने दूध का दूध पानी कर दिया। पुलिस ने मृतका के पिता देशराज चाचा अरविंद यादव व भाई राहुल कुमार और साजिशकर्ता कृष्ण कुमार को गिरफ्तार कर लिया है।
और आला कत्ल बरामद करते हुए घटना के खुलासे का सफल अनादरण किया तो वहीं एक अन्य साजिशकर्ता राजेश सिंह फरार हो गये। घटना का खुलासा करने व अभियुक्तों की गिरफ्तारी में टिकैतनगर प्रभारी निरीक्षक पी के झा प्रभारी निरीक्षक दरियाबाद शशिकान्त यादव सर्विलांस टीम स्वाट टीम के अलावा उप निरीक्षक शीतला प्रसाद मिश्रा पशुपति नाथ तिवारी बृजेन्द्र नाथ मिश्रा त्रियुगी नारायण तिवारी कांस्टेबल सुजीत कुमार राजन कुमार सूरज शैलेन्द्र शर्मा रोहित यादव सोनू वर्मा ने योगदान दिया। पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने पुलिस टीम को 25000 रूपये ईनाम की घोषणा की है।